जूलॉजी से एमएससी करने के लाभ: सम्पूर्ण जानकारी

यदि आप अपनी स्नातक की पढ़ाई कंप्लीट कर चुके हैं और विज्ञान के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं और आपको जीव जंतुओं में रुचि है तो आप जूलॉजी सेएमएससी कर सकते हैं आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको जूलॉजी से एमएससी करने से क्या लाभ होता है इसकी संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े.

zoology se msc karne ke labh
zoology se msc karne ke labh

जूलॉजी क्या है?

विज्ञान को तीन भागों में बांटा गया है भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञानऔर जीव विज्ञान. जीव विज्ञानमें भी कई सारी शाखाएँ हैं उन्हीं में से एक है जूलॉजी, जो कि जीव विज्ञान की ही एक शाखा है जिसमें पृथ्वी पर पाए जाने वाले जीव जंतुओं और प्राणियों से संबंधित सभी प्रकार का ज्ञान जैसे- प्रजनन, भोजन, बाह्य रचना, आंतरिक संरचना, जीव व्यवहार, जीव पर्यावरण आदि प्रदान किया जाता है जीव-जंतुओं के बारे में गहराई से अध्ययन करने के लिए आपको जूलॉजी से एमएससी करनी चाहिए.

BTA Course Details in Hindi

जूलॉजी में पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट

  • प्राणी पारिस्थितिकी
  • प्राणी प्रजनन
  • प्राणी व्यवहार
  • प्राणी शरीर रचना
  • प्राणी वर्गीकरण

MSc क्या होता है?

MSC का फुल फॉर्म मास्टर ऑफ साइंस होता है यह 2 साल की पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री होती है MSC, मेडिसिन, इंजीनियरिंग, केमिस्ट्री, गणित, फिजिक्स, बायोलॉजी और संबंधित विषयों में पढ़ाई करने वाले छात्रों को दी जाने वाली 2 साल की फुल टाइम पोस्टग्रेजुएट डिग्री है MSc कोर्स में आपको विशेष विषयों के बारे में सैद्धांतिक ज्ञान के साथ-साथ प्रैक्टिकल ज्ञान भी दी जाता है, जॉब देखते समय आपकी प्रैक्टिकल नॉलेज ही ज्यादा काम आती है जूलॉजी में एमएससी करने के बाद आपको प्राणी विज्ञान के विषय में उच्च कोटि का ज्ञान प्राप्त होगा जिससे आप साइंस की फील्ड में अपना अच्छा खासा कैरियर बना सकेंगे और उच्च सैलरी वाली जॉब प्राप्त कर सकेंगे.

एमएससी कोर्स करने के लिए आपको शिक्षण संस्थानों को ₹6000 से लेकर ₹62,000 प्रतिवर्ष तक फीस का भुगतान करना पड़ सकता है एमएससी कोर्स की फीस आपके द्वारा चुने गए शिक्षण संस्थान पर निर्भर करती है एमएससी करने के बाद आप खाद्य सुरक्षा विश्लेषक, प्रोजेक्ट असिस्टेंट,फार्मा एसोसिएट्स जैसे पदों पर कार्य कर सकते हैं जिसके लिए आपको अच्छी खासी सैलरी भी प्रदान की जाएगी.

LLM कोर्स क्या है सम्पूर्ण जानकारी

जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे

  • यदि आप प्राणी जगत में रुचि रखते हैं और जीव जंतुओं से संबंधित ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं तो आप जूलॉजी से एमएससी कर सकते हैं.
  • जूलॉजी विषय से एमएससी करने से आपके अंदर रिसर्च स्किल उत्पन्न होती है.
  • जूलॉजी से एमएससीकरने के बाद आप एक शिक्षक के तौर पर बच्चों कोपढ़ा सकते है.
  • जूलॉजी से एमएससी कोर्स करके आप अच्छी खासी सैलरी वाली जॉब प्राप्त कर सकते हैं.
  • जूलॉजीसे एमएससी कोर्स को करने के बाद आपको कई सॉरी जॉब अपॉर्चुनिटीज मिलती हैं.
  • यदि आपने जूलॉजी से एमएससी कोर्स किया है तो आप पर्यावरण संरक्षण कार्यकर्ता, पर्यावरण परामर्शदाता, शिक्षक, शोधकर्ता, प्रशिक्षक, जूलॉजिस्ट, एनीमल ट्रेनर, वाइल्ड लाइफ, बायोलॉजिस्ट रिसर्चर आदि के तौर पर कार्य कर सकते हैं.
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद विद्यार्थियों के अंदर आत्मविश्वास बढ़ता है जिससे वे आगे की पढ़ाई जैसे पीएचडी और एमफिल जैसे कोर्स कर सकते हैं.
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आपको शोध कार्यों के लिए अवसर प्राप्त होते हैं.
  • जूलॉजी से एमएससीकरने सेजानवरों और अन्य प्राणियों से संबंधित शोध, जेनेटिक्सकार्यों के लिए आपको जॉब प्रदान की जाती है.
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप अपने उच्च अधिकारियों के संपर्क में आते हैं जिससे आपको इस फील्ड में और भी प्रैक्टिकल नॉलेज प्राप्त होती है.

एमएससी कोर्स में एडमिशन के लिए योग्यता

जूलॉजी से एमएससी कोर्स करने के लिए आपको कॉलेजों द्वारा निर्धारित पात्रता मापदंडों को पूरा करना होगा जिसके पश्चात ही आपका एडमिशन लिया जाएगा जोकि निम्नलिखित हैं

  • स्टूडेंट भारत का स्थायी निवासी होना चाहिए.
  • MSC में एडमिशन के लिए स्टूडेंट को सबसे पहले साइंस स्ट्रीम से 12वीं की परीक्षा पास करनी होगी.
  • उसके बाद साइंस में बैचलर की डिग्री प्राप्त करनी होगी जिसमें 50% से ज्यादा अंक होने चाहिए.
  • यदि कॉलेज में एडमिशन प्रवेश परीक्षा के आधार पर हो तो आपको प्रवेश परीक्षाएं पास करनी होगी.

ITI Trade details in Hindi

एमएससी के लिए प्रवेश परीक्षाएं

  • JNUEE
  • BHU PET
  • BITSAT
  • TISS NET
  • DUET

MSc के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज

  • भारतीय विदेश व्यापार संस्थान, नई दिल्ली
  • IIM लखनऊ
  • IIM अहमदाबाद
  • MDI गुरुग्राम
  • एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल, नोएडा
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
  • के जे सोमैया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च, मुंबई
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस, पुणे
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी

जूलॉजी से एमएससी करने के बाद क्या करें

  • शोधकर्ता के रूप में कार्य कर सकते हैं
  • प्राणी विज्ञानी बन सकते हैं
  • प्रशिक्षक बन सकते हैं
  • चिड़ियाघर कल्याण विशेषज्ञ के तौर पर कार्य कर सकते हैं
  • पर्यावरण संरक्षण कार्यकर्ता बन सकते हैं

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आजका आर्टिकल “जूलॉजी से एमएससी करने के लाभ: संपूर्ण जानकारी” पसंद आया होगा यदि आप ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment